स्थानीय स्वायत्तशासी संस्थाएं किसके द्वारा सशक्त की गई?

(A) जॉर्ज बालों द्वारा
(B) लॉर्ड रिपन द्वारा
(C) लॉर्ड कर्जन द्वारा
(D) लॉर्ड लिटन द्वारा

Answer : लॉर्ड रिपन द्वारा
Explanation : भारत में स्थानीय स्वायत्तशासी संस्थाएं 1882 ई. में लॉर्ड रिपन द्वारा सशक्त की गई थीं। भारत में लॉर्ड रिपन (1880– 1884) के द्वारा 1882 में स्थानीय स्वायत्तशासी संस्थाओं की स्थापना की गई। इसके अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में स्थानीय बोर्डों जिले में उपविभाग, तहसील में बोर्ड तथा नगरों में नगरपालिकाओं का गठन करके इन्हें सशक्त किया गया। रिपन को भारत में स्थानीय स्वशासन का जन्मदाता कहा जाता है। रिपन के समय ही प्रथम नियमित जनगणना (1881) तथा प्रथम फैक्ट्री कानून (1881) पारित किया गया था। शैक्षिक सुधारों के लिए रिपन ने हंटर आयोग की नियुक्ति की थी। रिपन ने प्रेस की स्वतंत्रता को बहाल करने के उद्देश्य से पूर्ववर्ती गवर्नर जनरल लिटन द्वारा पारित ‘वर्नाक्युलर प्रेस एक्ट’ को समाप्त कर दिया तथा ‘इबर्ट बिल’ पारित करके भारतीय न्यायाधीशों को यूरोपीयों के मुकदमे सुनने का अधिकार दे दिया, किन्तु यूरोपियों के विरोध के चलते यह अधिकार वापस लेना पड़ा।
Tags : आधुनिक भारत प्रश्नोत्तरी, इतिहास प्रश्नोत्तरी, सर्वोच्च न्यायालय
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Sthaniya Swayattshasi Sanstha Kiske Dwara Sashakt Ki Gayi