त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था की अनुशंसा किसने की?

(A) एल. एम. सिंघवी समिति
(B) जी. के. वी. राव समिति
(C) बलवंत राय मेहता समिति
(D) अशोक मेहता समिति

Answer : बलवंत राय मेहता समिति
Explanation : भारत में त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था की अनुशंसा बलवंत राय मेहता समिति ने थी। 1957 में योजना आयोग ने बलवंत राय मेहता की अध्यक्षता में 'सामुदायिक परियोजनाओं एवं राष्ट्रीय विकास' सेवाओं का अध्ययन दल के रूप में एक समिति बनाई, जिसे यह दायित्व दिया गया कि वह उन कारणों का पता करे, जो सामुदायिक विकास कार्यक्रम की संरचना तथा कार्यप्रणाली की सफलता में बाधक थी। मेहता दल ने 1957 के अंत में अपनी रिपोर्ट में सिफारिश की, जिसके अनुसार 'लोकतांत्रिक विकेंद्रीकरण और सामुदायिक विकास कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु पंचायती राज व्यवस्था की तुरंत शुरुआत की जानी चाहिए।' त्रिस्तरीय व्यवस्था पंचायती राज व्यवस्था को मेहता समिति ने 'लोकतांत्रिक विकेंद्रीकरण' का नाम दिया। समिति ने ग्रामीण स्थानीय शासन के लिए त्रिस्तरीय व्यवस्था का सुझाव दिया, जो निम्न प्रकार था– 1. ग्राम- ग्राम पंचायत 2. खंड- पंचायत समिति और 3. जिला- जिला परिषद्।
Tags : समाजशास्त्र प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Tristariy Panchayati Raj Vyavastha Ki Anushansa Kisne Ki