उदगार के आधार पर ज्वालामुखी कितने प्रकार के होते हैं?

(A) दो प्रकार के
(B) तीन प्रकार के
(B) चार प्रकार के
(C) पांच प्रकार के

Answer : तीन प्रकार के
Explanation : उदगार के आधार पर ज्वालामुखी तीन प्रकार के होते हैं–मृत/शांत ज्वालामुखी, प्रसुप्त ज्वालामुखी और सक्रिय ज्वालामुखी। शांत ज्वालामुखी के उदाहरण हैं-'कोह सुल्तान' एवं 'देमवन्द' (ईरान), 'पोपा' (म्यांमार), 'किलीमंजारो' (अफ़्रीका), 'चिम्बाराजो' (दक्षिण अमेरिका), 'एकांकागुआ' आदि। प्रसुप्त ज्वालामुखी का उदाहरण इटली का विसुवियस ज्वालामुखी के अलावा 'विसुवियस' (भूमध्य सागर), 'क्राकाटोवा' (संडा जलडमरुमध्य), 'फ्यूजीयामा' (जापान), 'मेयन' (फिलिपींस) आदि है। सक्रिय ज्वालामुखी का उदाहरण इटली में पाया जाने वाला एटना ज्वालामुखी इसका प्रमुख उदाहरण है, जोकि 2500 वर्षों से सक्रिय है।
Tags : भूगोल प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Udgar Ke Aadhar Par Jwalamukhi Kitne Prakar Ke Hote Hain