विश्व का पहला नैनो तरल यूरिया किस संस्था ने बनाया?

(A) नाबार्ड
(B) इफको
(C) आईएफसीआई
(D) भारतीय खाद्य निगम

Answer : इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोआपरेटिव लिमिटेड (IFFCO)
Explanation : विश्व का पहला नैनो तरल यूरिया इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (इफ्को) ने बनाया। यह आधालीटर नैनो यूरिया एक बोरी यूरिया के बराबर काम करेगा। इसके प्रयोग से पैदावार औसतन आठ प्रतिशत बढ़ेगी और लागत में कमी आएगी। आधा लीटर तरल यूरिया की बोतल की कीमत 240 रुपये रखी गई है। यह सामान्य यूरिया के एक बैग से 10 फीसदी सस्ती है। यह उत्पाद मिट्टी में यूरिया के इस्तेमाल में कमी लाने की प्रधानमंत्री की अपील से प्रेरित होकर तैयार किया गया है। संस्था के वैज्ञानिकों व इंजीनियरों ने नैनो यूरिया को स्वदेशी तकनीक के जरिये कलोल स्थित नैनो जैव प्रौद्योगिकी अनुसंधान केंद्र में तैयार किया है। इसे पौधों के पोषण के लिए प्रभावी पाया गया है। नैनो यूरिया का एक कण यूरिया के कण के 55 हजारवें हिस्से के बराबर है। कलोल में जून 2021 से इसका उत्पादन शुरू हो जाएगा। दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश के आंवला एवं फूलपुर में इसका उत्पादन शुरू किया जाएगा। पहले चरण में 18 करोड़ बोतल यूरिया उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Vishv Ka Pahla Naino Taral Urea Kis Sanstha Ne Banaya