मौत के कुएं में मोटरसाइकिल कैसे चलाते हैं?

1. मौत के कुएं में मोटर-साइकिल चलाना कैसे संभव है?
मौत के कुएं में जब चालक कुएं की दीवार पर मोटर-साइकिल तेजी से दौड़ाता है तो वह स्वयं को मोटर-साइकिल समेत कुछ झुकाये रखता है। इस दशा में दीवार द्वारा आरोपित बल का क्षैतिज घटक आवश्यक अभिकेंद्र बल प्रदान करता है तथा ऊर्ध्वाधर घटक मोटर-साइकिल व चालक के भार को संतुलित करता है।

2. जब कोई सेना पुल को पार करती है तो सैनिक कदम मिलाकर नहीं चलते, क्यों?
इसका कारण यह है कि यदि कभी सैनिकों के कदमों की आवृति पुल की स्वाभाविक आवृति के बाराबर हो जाये तो पुल में बहुत बड़े आयाम के कम्पन्न होने लगेंगे तथा टूटने का खतरा हो जायेगा।

3. पृथ्वी पर विद्युत बल्ब टूटने पर आवाज करता है, जबकि चंद्रमा पर नहीं, क्यों?
विद्युत बल्ब में आंशिक निर्वात होता है। जब यह टूटता है, तो इसके चारों तरफ की हवा तेजी से खाली स्थान को भरती है जिससे आवाज उत्पन्न होती है। चंद्रमा पर वायुमंडलीय अभाव के कारण आवाज नहीं होती।

4. गर्म देशों के व्यक्ति ठंडे देशों की अपेक्षा काले क्यों होते हैं?
त्वचा में मेलनिन नामक पिगमेंट बनाता है। गर्म देशों में व्यक्तियों को पराबैंगनी किरणों के प्रभाव से बचाने के लिए त्वचा में मेलनिनन का निर्माण अधिक मात्रा में होता है, जिससे वे काले होते हैं। ठंडे देशों के व्यक्तियों में मेलनिन कम मात्रा में पाया जाता है, जिससे वे गोरे होते हैं।

Useful for Exams : Central and State Government Exams
Related Exam Material
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Web Title : maut ke kuen me motorcycle kaise chalate hain