‘निष्कलंक’ का संधि-विच्छेद क्या होगा?

(A) निष + कलंक
(B) नि: + कलंक
(C) निष् + कलंक
(D) नि + कलंग

Answer : नि: + कलंक
Explanation : 'निष्कलंक' का संधि-विच्छेद 'निः+कलंक' होगा। 'निष्कलंक' शब्द में विसर्ग संधि है। विसर्ग संधि के नियमानुसार यदि विसर्ग के बाद ‘च-छ', 'ट-ठ' तथा 'त-थ' आए तो विसर्ग क्रमश: श्, ष, स् में बदल जाते हैं; जैसे-नि: + तार = निस्तार, दुः + चरित = दुश्चरित्र, धनु: + टंकार = धनुष्टंकार आदि।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Related Questions
Web Title : Nishkalank Ka Sandhi Vichched Kya Hoga