दक्षिण मध्य रेलवे ने पहली बार लंबी दूरी की किस दो मालगाड़ियों को चलाया?

(A) कोयल और किसान
(B) समझौता और भारत
(C) त्रिशूल और गरुड़
(D) वतन और हिम्मत

Answer : त्रिशूल और गरुड़
Explanation : भारतीय रेल (Indian Railway) के दक्षिण मध्य मंडल ने पहली बार लंबी दूरी की दो मालगाड़ियों ‘त्रिशूल’ और ‘गरुड़’ का सफलतापूर्वक परिचालन किया। यह लंबी दूरी की मालगाड़ियों से दोगुना या कई गुना ज्यादा लंबी हैं और इनमें एक बार में बहुत ज्यादा माल की ढुलाई होने से क्षमता की कमी का समाधान होता है। दक्षिण मध्य रेलवे (एससीआर) पर पहली ऐसी ट्रेन ‘त्रिशूल’ की लंबाई तीन मालगाड़ियों के बराबर है और इसमें 177 डिब्बे हैं। इस मालगाड़ी ने अपना सफर सात अक्टूबर को विजयवाड़ा मंडल के कोंडापल्ली स्टेशन से पूर्वी तट रेलवे के खुर्द मंडल तक के लिए शुरू किया। इसके बाद दक्षिण मध्य रेलवे ने आठ अक्टूबर को गुंटाकल मंडल में रायचुर से सिकंदराबाद मंडल में मेंगलूरू तक ऐसी ही एक और मालगाड़ी ‘गरुड़’ को रवाना किया। दोनों मालगाड़ियों में ताप विद्युत संयंत्रों के लिए कोयला की ढुलाई करने के वास्ते ऊपर से खुले हुए डिब्बे हैं। एससीआर भारतीय रेलवे के पांच प्रमुख माल ढुलाई वाले रेलवे में शामिल है।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Dakshin Madhya Railway Ne Pahli Baar Lambi Duri Ki Kis Do Malgadiyon Ko Chalaya