गांधीजी के नमक सत्याग्रह का एकमात्र उद्देश्य क्या था?

(A) नमक कानून को निरस्त करना
(B) सरकार की सत्ता की कटौती
(C) आम लोगों के लिए आर्थिक राहत
(D) भारत के लिए ‘पूर्ण स्वराज’
(E) इनमें से कोई नहीं/इनमें से एक से अधिक

asked-questions
Question Asked : BPSC 63rd Combined Preliminary Exam 2018
Answer : इनमें से कोई नहीं/इनमें से एक से अधिक
नमक सत्याग्रह महात्मा गांधी द्वारा चलाए गए सभी आन्दोलनों में सबसे प्रमुख था। वर्ष 1930 में स्वतन्त्रता दिवस मनाए जाने के तुरन्त बाद गांधीजी ने नमक कानून के खिलाफ सत्याग्रह प्रारम्भ करने की घोषणा की। ब्रिटिश सरकार द्वारा बनाए गए इस कानून के तहत नमक के उत्पादन एवं विक्रय पर राज्य को एकाधिकार दे दिया। गांधीजी का मानना था कि प्रत्येक घर के लिए नमक अपरिहार्य है, परन्तु इसे दुकानों पर ऊंचे मूल्यों पर बेचा जाता है, अत: गांधीजी के नमक सत्याग्रह का एकमात्र उद्देश्य नमक कानून को निरस्त करना एवं आम लोगों को आर्थिक राहत पहुंचाना था।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : What Was The Only Purpose Of Gandhiji Salt Satyagraha