गूलर का फल क्या काम आता है?

Answer : यह औषधि का खजाना होता है
Explanation : गूलर का फल कई कामों में प्रयोग होता है, इसका फल एंटी वायरस, एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है। साथ ही विषैले पदार्थों को शरीर से निष्कासित करने में महत्वपूर्ण योगदान देता है। आयुर्वेद में गूलर को औषधि का खजाना माना गया है। इससे नेत्र रोग, मधुमेह, मूत्र विकार, डायरिया सहित कई प्रमुख रोगों की अचक दवा बनती है। गूलर के पेड से निकला दूध बवासीर, मह के अल्सर व घाव सुखाने में लाभदायक होता है। गूलर का फल ल्युकोरिया, रक्त विकार, त्वचा विकार, पित्त विकार, और शारीरिक कमजोरी दूर करने में उपयोगी होता है। चेचक के उपचार में भी काम आता है। पेड़ का तना, पत्ती, फल व दूध सभी का प्रयोग औषधि के रूप में किया जाता है। ऐसा भी कहा जाता है कि यदि कोई नियमित तौर पर एक वर्ष तक इसका फल खाए तो उसको नेत्ररोग की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। बच्चों की कई बीमारियों में भी इसका प्रयोग किया जाता है। इसीलिए गूलर के पेड़ को बोलचाल में 'हकीम सरदार' भी कहा जाता है। इसके अलावा 12 महीने फल देने के कारण इसको सदाफल भी कहा जाता है।
Related Questions
Web Title : Gular Ka Phal Kya Kaam Aata Hai