केंद्र में द्वैध शासन की स्थापना किस अधिनियम के तहत की गई?

(A) भारतीय काउंसिल अधिनियम, 1892
(B) मिंटो-मार्ले सुधार, 1909
(C) मोंटेगू-चेम्सफोर्ड सुधार, 1919
(D) भारत सरकार अधिनियम, 1935

Answer : भारत सरकार अधिनियम, 1935
Explanation : केंद्र में द्वैध शासन की स्थापना भारत सरकार अधिनियम, 1935 के तहत की गई। इस अधिनियम में विधायी शक्तियों को केंद्र व प्रांतीय विधान मंडलों के बीच विभाजित किया गया। इसके तहत संघ सूची, राज्य सूची व समवर्ती सूची का निर्माण किया गया। इसके अतिरिक्त इस अधिनियम के द्वारा प्रांतों में द्वैध शासन व्यवस्था का अंत कर उन्हें स्वतन्त्र व स्वशासित प्रांतीय स्वायत्तता प्रदान की गई।
द्वैध शासन: कुछ संघीय विषयों [सुरक्षा, वैदेशिक संबंध, धार्मिक मामलें] को गवर्नर जनरल के हाथों में सुरक्षित रखा गया। अन्य संघीय विषयों की व्यवस्था के लिए गवर्नर-जनरल को सहायता एवं परामर्श देने हेतु मंत्रिमंडल की व्यवस्था की गई, जो मंत्रिमंडल व्यवस्थापिका के प्रति उत्तरदायी था।
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Kendra Mein Dwaidh Shasan Ki Sthapna Kis Adhiniyam Ke Tahat Ki Gayi