लौह और रक्त की नीति किस शासक की थी?

(A) ऐबक
(B) बल्बन
(C) रजिया
(D) इल्तुतमिश

Question Asked : [UP Higher Education Assistant Professor Exam 2013]
Answer : बल्बन
बलबन ने सुल्तान की प्रतिष्ठा को स्थापित करने के लिए 'रक्त एवं लौहा' की नीति अपनायी। बलबन ने अपने को फिरदौसी के शाहनामा में वर्णित 'अफरासियाब वंशज' तथा शासन को ईरानी आदर्श के रूप में व्यवस्थित किया। बलबन ने इल्तुतमिश द्वारा गठित किया गया 'दल चालीसा' का दमन किया। इसने ईरानी त्यौहार 'नौरोजी प्रथा' आरंभ की। बलबन गुलाम वंश का नौवां सुल्तान था।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Loh Aur Rakt Ki Niti Kis Shasak Ki Thi