मुगल बादशाहों में किसने अपनी आत्मकथा फारसी में लिखी?

(A) बाबर
(B) अकबर
(C) जहांगीर
(D) औरंगजेब

Question Asked : [UPPCS (Pre) GS 2001]
Answer : जहांगीर
बाबर ने अपनी आत्मकथा 'बाबरनामा' तुर्की में लिखी थी तथा बाबर ने कविता संग्रह 'दीवा' तुर्की में ही लिखा था। जहांगीर ने अपनी आत्मकथा 'तुजुके जहांगीरी' को अपने शासन ​काल के 17वें वर्ष तक फारसी में लिखा, बाद में मोतमिद खां ने इसे पूरा किया। अकबर की जीवन 'अकबरनामा' फारसी में अबुल फजल ने लिखा तथा जहांगीर ने फारसी भाषा में 'तुजुके जहांगीरी' नामक आत्मकथा लिखी।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Mughal Baadshaho Mein Kisne Apni Atmakatha Farsi Mein Likhi