ओगनिया आभूषण कहाँ पहना जाता है?

(A) नाक में
(B) कान में
(C) गले में
(D) पैर में

Answer : गले में
Explanation : ओगनिया आभूषण गले में पहना जाता है। राजस्थानी स्त्री गला व छाती में तुलसी बजंट्टी, हालरो, हांसली, पोत, चन्द्रमाला, कंठमाला, हाकर, चंपाकली, कंठी, पंचलड़ी, मटरमाला, मोहनमाला, जालरो, चंद्रहार, तिमणिया, ढुस्सी, निबोरी, जुगावली, कंठसारी, मांदलिया, खुंगाली, जंजीर, हार, हंसहार, कंठी नामक आभूषण भी पहनती है। जबकि बाजू व हाथ के आभूषणों में टड्डा, वट्टा, तकमा, बाजूबंद, पट, फूंदना, अणत, पूंचिया, चूडियां, चूड़ा, कड़ा, मौखड़ी, (लाख का कड़ा), बंगड़ी, हथफूल, कंकण, बल्लया, नोगरी, गजरा,, गोखरु, नवरतन, हारपान, पाटला आदि है। राजस्थानी महिलाऐं अपनी अंगुली में बींटी, अंगूठी, छल्ला, दामणा, हथपान, छड़ा, अरसी (अंगूठे की अंगूठी), मूंदड़ी नामक आभूषणों का उपयोग करती है।
Tags : राजस्थान प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Related Questions
Web Title : Oganiya Aabhushan Kaha Pehna Jata Hai