‘शिवालिक शैल’ समूह के दक्षिण में भाबर क्षेत्र किसका उदाहरण है?

(A) मध्य भूमि स्थिति का
(B) अन्तरापर्वतीय स्थिति का
(C) गिरिपाद की स्थिति का
(D) अनुसमुद्री स्थिति का

Answer : गिरिपाद की स्थिति का
Explanation : भाबर प्रदेश यह शिवालिक के गिरिपाद प्रदेश में सिंधु नदी से तीस्ता नदी तक पाया जाता है। यह 8 से 16 किमी चौड़ाई वाली संकर पट्टी के रूप में स्थित गिरिपाद पर स्थित होने के कारण इस क्षेत्र में नदियां बड़ी मात्रा में भारी पत्थर—कंकड़ बजरी आदि लाकर जमा कर देती है जिससे पारगम्य चट्टानों का निर्माण होता है। अत: इस क्षेत्र में पहुंचकर अनेक छोटी—छोटी नदियां भूमिगत होकर अदृश्य हो जाती हैं। तराई प्रदेश यह भाबर के दक्षिण में मैदान का वह भाग होता है जहां भाबर की लुपत नदियां फिर से भूतल पर प्रकट हो जाती हैं। बांगर प्रदेश यह वह ऊंचा भाग है जहां ​नदियों की बाढ़ का जल नहीं पहुंचता। यह पुरानी जलोढ़ मिट्टी का बना हुआ होता है। खादर प्रदेश यह वह नीचा भाग है जहां नदियों की बाढ़ का जल प्रति वर्ष पहुंचता है प्रति वर्ष नदियों की बाढ़ का जल नवीन मिट्टी लाकर यहां पर बिछा देता है इसलिए नवीन जलोढ़ द्वारा खादर निर्मित होता है।
Tags : भूगोल प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Shivalik Shel Samooh Ke Dakshin Mein Bhabar Kshetra Kiska Udaharan Hai