अणुव्रत सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया था?

(A) महायान बौद्ध सम्प्रदाय ने
(B) हीनयान बौद्ध सम्प्रदाय ने
(C) जैन धर्म ने
(D) लोकायात शाखा ने

jainism
Question Asked : Allahabad High Court Recruitment Assistant Review Officer Exam 2019
Answer : जैन धर्म ने
Explanation : अणुव्रत सिद्धांत का प्रतिपादन जैन धर्म ने किया था। जैनधर्म की पांच मुख्य शिक्षाएं सत्य, अहिंसा, अस्तेय, अपरिग्रह एवं ब्रहाचर्य को अणुव्रत कहा जाता है। इनमें से चार सिद्धांत पाश्वनार्थ द्वारा दिए गए, जबकि अंतिम ब्रह्राचर्य को महावीर द्वारा जोड़ा गया था, ये जैन धर्म के अंतिम तीर्थकर थे। दुनिया के सबसे प्राचीन धर्म जैन धर्म को श्रमणों का धर्म कहा जाता है। जैन धर्म का संस्थापक ऋषभ देव को माना जाता है, जो जैन धर्म के पहले तीर्थंकर थे और भारत के चक्रवर्ती सम्राट भरत के पिता थे।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, जैन धर्म
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Anuvrat Siddhant Ka Pratipadan Kisne Kiya Tha