दादासाहेब फालके द्वारा निर्देशित एकमात्र बोलती फिल्म कौन सी है?

(A) राजा हरिश्चंन्द्र
(B) भस्मासुर मोहिनी
(C) गंगावतरण
(D) द लाइफ ऑफ क्रिस्ट

Answer : गंगावतरण
Explanation : दादासाहेब फालके द्वारा निर्देशित एकमात्र बोलती फिल्म 'गंगावतरण' है। यह 1938 में दादासाहेब की अपनी पहली और अंतिम बोलती फिल्म थी। दादासाहब फाल्के एक जाने-माने निर्देशक, निर्माता और स्क्रीनराइटर थे जिन्होंने अपने 19 साल लंबे करियर में 95 फिल्में और 27 शॉर्ट फिल्म बनाईं। दादा साहब फाल्के को भारतीय सिनेमा का पितामह कहा जाता है। उन्होंने साल 1913 में 'राजा हरिश्चंद्र' से डेब्यू किया जो भारत की पहली फुल-लेंथ फीचर फिल्म है। राजा हरिश्चंद्र बनाने के बाद उन्होंने साल 1917 में लंका दहन बनाई थी। दादा साहेब फाल्के का जन्म 30 अप्रैल 1870 को एक मराठी परिवार में हुआ था। उन्होंने नासिक से पढ़ाई की। दादा साहेब फाल्के का पूरा नाम धुंडिराज गोविंद फाल्के था। उन्होंने सर जेजे स्कूल ऑफ आर्ट, मुंबई में नाटक और फोटोग्राफी की ट्रेनिंग ली। इसके बाद उन्होंने जर्मनी जाकर फिल्म बनाने की शिक्षा हासिल की। इसके बाद भारत वापस आकर उन्होंने फिल्में बनानी शुरू की।
Tags : पुरस्कार और सम्मान, सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
Related Questions
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Web Title : Dadasaheb Phalke Dwara Nirdeshit Ekmatra Bolti Film Konsi Hai