हिन्दी का प्रथम महाकाव्य कौन सा है?

(A) प्रियप्रवास
(B) पृथ्वीराज रासो
(C) संपत्तिशास्त्र
(D) शृंगाररसमण्डन

Answer : पृथ्वीराज रासो (Prithviraj Raso)
हिन्दी का प्रथम महाकाव्य पृथ्वीराज रासो (Prithviraj Raso) है। पृथ्वीराज रासो हिन्दी भाषा में लिखा एक महाकाव्य है जिसमें पृथ्वीराज चौहान के जीवन और चरित्र का वर्णन किया गया है। जब 1165 से 1192 के बीच पृथ्वीराज चौहान का राज्य अजमेर से दिल्ली तक फैला हुआ था। इसके रचयिता चंद बरदाई भट्टपृथ्वीराज के बचपन के मित्र और उनके राजकवि थे और उनकी युद्ध यात्राओं के समय वीर रस की कविताओं से सेना को प्रोत्साहित भी करते थे। पृथ्वीराजरासो ढाई हजार पृष्ठों का बहुत बड़ा ग्रंथ है जिसमें 69 समय (सर्ग या अध्याय) हैं। प्राचीन समय में प्रचलित प्रायः सभी छंदों का इसमें व्यवहार हुआ है।
Tags : सामान्य हिन्दी प्रश्नोत्तरी
Related Questions
Web Title : Hindi Ka Pratham Mahakavya Kaun Sa Hai