किस पर्व से पहाड़ी खड़िया की आर्थिक स्थिति उजागर होती है?

(A) माघे
(B) करमा
(C) फागो
(D) जैथ-नवा-खिया

Answer : माघे
Explanation : माघे पर्व से पहाड़ी खड़िया की आर्थिक स्थिति उजागर होती है। माघे पर्व को झंडा पर्व भी कहा जाता है। यह पर्व मुंडा जनजाति द्वारा रांची जिले के कई प्रखंडों में मनाया जाता है। इस पर्व के अवसर पर जतरा निकाला जाता है। इस पर्व के लिए यह आवश्यक है कि साल फूल के गिरने से पहले ही इसे मना लिया जाए। इस पर्व के समय अगले वर्ष के लिए कृषि श्रमिकों की सेवाओं का नवीनीकरण किया जाता है। कृषि श्रमिक को तेल लगाया जाता है और उससे पूछा जाता है कि क्या वह अगले वर्ष में भी उसके खेत में हल चलाने का इच्छुक है। यदि वह इसके लिए तैयार हो जाता है तो उसे विशिष्ट भोजन एवं पेय दिए जाते हैं। नियोक्ता उसे कृषि उपकरण आदि देकर ससम्मान विदा करता है।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Kis Parv Se Pahadi Khadiya Ki Arthik Sthiti Ujagar Hoti Hai