कोउ नृप होय हमें का हानि का अर्थ और वाक्य प्रयोग

(A) भाग्य की गति विचित्र है, ईश्वर की माया विचित है
(B) व्यक्ति के अनुसार आवभगत
(C) दुष्ट के साथ और अधिक दुष्टता
(D) किसी को पद या अधिकार मिलने से हम पर कोई प्रभाव नहीं होना

Answer : किसी को पद या अधिकार मिलने से हम पर कोई प्रभाव नहीं होना
Explanation : कोउ नृप होय हमें का हानि का अर्थ kou nrip hoy hame ka hani है 'किसी को पद या अधिकार मिलने से हम पर कोई प्रभाव नहीं होना।' हिंदी लोकोक्ति कोउ नृप होय हमें का हानि का वाक्य में प्रयोग होगा – मुख्यमंत्री जो भी बने हमें क्या फर्क पड़ना है– कोऊ नृप होय हमें का हानि। हिन्दी मुहावरे और लोकोक्तियाँ में 'कोउ नृप होय हमें का हानि' जैसे मुहावरे कई प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे संघ लोक सेवा आयोग, कर्मचारी चयन आयोग, बी.एड., सब-इंस्पेटर, बैंक भर्ती परीक्षा, समूह 'ग' सहित विभिन्न विश्वविद्यालयों की प्रवेश परीक्षाओं के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित होते है।
Tags : लोकोक्तियाँ एवं मुहावरे, हिंदी लोकोक्तियाँ, हिन्दी मुहावरे और लोकोक्तियाँ
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Kou Nrip Hoy Hame Ka Hani