सत्यमेव जयते किस ग्रंथ से मिलता है?

(A) उपनिषद (मुण्डकोपनिषद)
(B) सामवेद
(C) ऋग्वेद
(D) रामायण

Question Asked : SSC CPO SI 2003
Answer : उपनिषद (मुण्डकोपनिषद)
Explanation : सत्यमेव जयते उपनिषद (मुण्डकोपनिषद) ग्रंथ से मिलता है। 'सत्यमेव जयते' मूलतः मुण्डक-उपनिषद का सर्वज्ञात मंत्र 3.1.6 है। सत्यमेव जयते अर्थात् सत्य की हमेशा विजय होती है। यह भारत का राष्ट्रीय वाक्य है। जिसे सारनाथ के स्तूप से लिया गया है। वहां यह वाक्य मुण्डकोपनिषद से लिया गया है। यह भारत के राष्ट्रीय प्रतीक के नीचे देवनागरी लिपि में अंकित है। यह प्रतीक उत्तर भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश में वाराणसी के निकट सारनाथ में 250 ई.पू. में सम्राट अशोक द्वारा बनवाये गए सिंह स्तम्भ के शिखर से लिया गया है, लेकिन उसमें यह आदर्श वाक्य नहीं है। पूर्ण मंत्र इस प्रकार है:
सत्यमेव जयते नानृतम सत्येन पंथा विततो देवयानः।
येनाक्रमंत्यृषयो ह्याप्तकामो यत्र तत् सत्यस्य परमम् निधानम्॥

बता दे कि पंडित मदन मोहन मालवीय ने साल 1918 में इसका इस्तेमाल किया; इसके बाद भारत के ध्येय वाक्य कै तौर पर इसका इस्तेमाल किया जाने लगा।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, वैदिक सभ्यता, वैदिक संस्कृति
Useful for : UPSC, PSC, Bank, SSC, Railway, TET
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Satyamev Jayate Kis Granth Se Milta Hai