उत्तररामचरित के तृतीय अंक की घटना कहां घटित हुई?

(A) वाल्मीकी आश्रम
(B) चित्रकूट
(C) अयोध्या
(D) पञ्चवटी

Answer : पञ्चवटी
Explanation : उत्तररामचरितम् के तृतीय अंक की घटना स्थान-दण्डकारण्य का पञ्चवटी प्रदेश में घटित होती है। वाल्मीकि आश्रम (अंक 7) में 'गर्भनाटक' का अभिनय, सीता को निर्दोष सिद्ध करना, लव-कुश और सीता से राम का मिलन। प्रथम अंक में अयोध्या का वर्णन है कि नान्दीपाठ पश्चात् सूत्राधार नाटककार भवभूति का परिचय देते हैं और सूचित करता है कि राज्याभिषेक के समय आए हुए अतिथियों को महाराज को महाराज राम ने विदा कर दिया। प्रथम अंक को चित्रदर्शन भी कहते हैं।
Tags : संस्कृत
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Uttararamacharita Ke Tritiya Ank Ki Ghatna Kahan Ghatit Hui