विनय पत्रिका (Vinay Patrika) के रचयिता कौन है?

(A) रैदास
(B) कबीरदास
(C) तुलसीदास
(D) सूरदास

Answer : तुलसीदास (Tulsidas)
विनय पत्रिका के रचयिता तुलसीदास (Tulsidas) है। 'विनय पत्रिका' ब्रजभाषा में लिखा गया एक ग्रंथ है। विनय पत्रिका में विनय के पद है। विनयपत्रिका का एक नाम राम विनयावली भी है। विनय पत्रिका में 21 रागों का प्रयोग हुआ है। विनय पत्रिका का प्रमुख रस शांतरस है तथा इस रस का स्‍थाई भाव निर्वेद होता है। विनय प्रत्रिका अध्‍यात्मिक जीवन को परिलक्षित करती है। इस में सम्‍मलित पदों की संख्‍या 279 है। सनद रहे कि गोस्वामी तुलसीदास जी ने हनुमान जी का ध्यान उपरान्त ही हनुमान ने उन्हे विनय पद रचने को कहा था। तब गोस्वामी तुलसीदास जी ने विनय पत्रिका लिखी और भगवान के चरणों में उसे समर्पित कर दी। श्रीराम ने उस विनय पत्रिका पर अपने हस्ताक्षर किए। तुलसीदास जी असी घाट पर प्रतिदिन राम कथा कहते थे। सवंत् 1680 श्रावण कृष्ण तृतीया शनिवार को असी घाट पर गोस्वामी तुलसीदास जी ने राम-राम कहते हुए अपने शरीर का त्याग किया।
Tags : सामान्य हिन्दी प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Vinay Patrika Ke Rachayita Kon Hai