विनय पत्रिका किसके लिए लिखी गई?

(A) गणेश
(B) शिव
(C) राम
(D) हनुमान

Answer : राम (Tulsidas)
विनय पत्रिका भगवान राम के लिए लिखी गई। तुलसीदास द्यारा ब्रजभाषा में रचित यह 279 स्तोत्र गीतों का संग्रह है। इसमें जितने भी देवी-देवताओं के सम्बन्ध के स्तोत्र और पद आते हैं, सभी में उनका गुणगान करके उनसे राम की भक्ति की याचना की गयी है। सनद रहे कि गोस्वामी तुलसीदास जी ने हनुमान जी का ध्यान उपरान्त ही हनुमान ने उन्हे विनय पद रचने को कहा था। तब गोस्वामी तुलसीदास जी ने विनय पत्रिका लिखी और भगवान के चरणों में उसे समर्पित कर दी। श्रीराम ने उस विनय पत्रिका पर अपने हस्ताक्षर किए। तुलसीदास जी असी घाट पर प्रतिदिन राम कथा कहते थे। सवंत् 1680 श्रावण कृष्ण तृतीया शनिवार को असी घाट पर गोस्वामी तुलसीदास जी ने राम-राम कहते हुए अपने शरीर का त्याग किया।
Tags : सामान्य हिन्दी प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Vinaya Patrika Kiske Liye Likhi Gai