चतुराईपूर्ण निष्क्रियता की नीति से कौन सा वायसराय जुड़ा था?

(A) लॉर्ड विलियम बैंटिक
(B) लॉर्ड कैनिंग
(C) लॉर्ड मेयो
(D) जॉन लॉरेन्स

Answer : जॉन लॉरेन्स
Explanation : चतुराईपूर्ण निष्क्रियता की नीति से जॉन लॉरेन्स वायसराय जुड़ा था। सर जॉन लारेन्स 1863 में भारत का वायसराय बनकर भारत आया। इसके समय भूटान का महत्वपूर्ण युद्ध हुआ। 1865 में भूटानियों ने ब्रिटिश साम्राज्य पर आक्रमण कर दिया। अन्तत: दोनों पक्षों में समझौता हुआ, अफगानिस्तान के संदर्भ में लॉरेन्स ने अहस्तक्षेप की नीति का पालन किया और तत्कालीन शासक शेर अली से दोस्ती की।
लॉर्ड मेयो 1869 में भारत का वायसराय बनकर भारत आया। इसने अफगानिस्तान के संदर्भ में लारेन्स की नीति का समर्थन किया।
लॉर्ड कैनिंग भारत में कम्पनी द्वारा नियुक्त अंतिम गवर्नर जनरल तथा ब्रिटिश सम्राट के अधीन नियुक्त भारत का प्रथम वायसराय था। इसके समय में महत्वपूर्ण 1857 का विद्रोह हुआ।
लॉर्ड विलियम बैंटिक के सामाजिक सुधारों में सर्वाधिक महत्वपूर्ण है सती प्रथा का अंत। बैंटिक ने सरकारी सेवाओं में भेदभाव पूर्ण व्यवहार को खत्म करने के लिए 1833 के एक्ट की धारा 87 के अनुसार योग्यता को ही सेवा का आधार माना न कि जाति को।
Tags : आधुनिक भारत प्रश्नोत्तरी, इतिहास प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Chaturaipurn Nishkriyata Ki Niti Se Kaun Sa Vaysaray Juda Tha