खराज कर क्या है?

(A) गैर-मुसलमानों से लिया जाने वाला भूमिकर
(B) भूमि उत्पाद कर
(C) लूट का धन
(D) उपज कर

Answer : गैर-मुसलमानों से लिया जाने वाला भूमिकर
Explanation : खराज कर गैर-मुसलमानों से लिया जाने वाला भूमिकर था। यह उपज का 1/3 से 1/2 भाग तक वसूल किया गया। सल्तनत काल में लगान निर्धारण की मिश्रित प्रणाली को 'मुक्तई' कहा गया। उश्र केवल मुसलमानों से लिया जाने वाला कर था, जो भूमि का उपज पर लिया जाता था। इस कर वसूली में बल प्रयोग किया जा सकता था। यह कर प्राकृतिक साधनों से सिंचित भूमि की उपज का 1/10 भाग तथा मनुष्यकृत साधनों से सिंचित भूमि की उपज का 1/5 भाग लिया जाता था। खम्स लूट का धन होता था। इस धन का 1/5 भाग राजकोष में तथा 4/5 भाग सैनिकों में बांट दिया जाता था। परन्तु अलाउद्दीन खिलजी एवं मुहम्मद बिन तुगलक ने लूट के धन का 4/5 भाग राजकोष में जमा किया तथा शेष 1/5 भाग सैनिकों में वितरित किया। यह भूमि उत्पाद कर नहीं था।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, मध्यकालीन भारत प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Kharaj Kar Kya Hai