किस पेशवा के काल में मराठा शक्ति अपनी चरम सीमा पर पहुंची?

(A) बाजीराव I
(B) माधव राव I
(C) नारायण राव
(D) बालाजी बाजीराव

Question Asked : [UPPCS (Pre) GS Ist History 2007]
Answer : बालाजी बाजीराव
बाजीराव प्रथम की मृत्यु के पश्चात् उसका पुत्र बालाजी बाजीराव पेशवा बना। हांलाकि बाजीराव प्रथम के समय मे ही मराठों ने अपनी स्थिति मजबूत करनी शुरु कर दी थी तथा अपने समकालीन लगभग सभी क्षेत्रीय शक्तियों को परास्त किया था। इन शक्तियों में निजाम सर्वप्रमुख थे। इसके अतिरिक्त बाजीराव प्रथम ने मराठा संघ के भीतर विद्यमान आंतरिक प्रतिद्वन्द्विता को भी समाप्त किया। लेकिन बालाजी बाजीराव के समय में मराठा-साम्राज्य का सर्वाधिक विस्तार हुआ और मराठा घोड़ों ने कन्याकुमारी से लेकर हिमालय के झरनों तक अपनी प्यास बुझाई। तात्पर्य यह है कि बालाजी बाजीराव के समय में मराठा शक्ति अपने चरमोत्कर्ष की सीमा तक पहुंच चुकी थी।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Kis Peshwa Ke Kaal Mein Maratha Shakti Apni Charam Seema Par Par Pahunchi