विभूषणं मौनमपण्डितानाम् का अर्थ

(A) समय पर आरम्भ की गयी नीतियां सफल होती हैं।
(B) मृत्यु समीप आ जाने पर कौन किसकी रक्षा कर सकता है।
(C) मूर्खों का मौन रहना उनके लिए भूषण (अलड़्ंकार) है।
(D) इनमें से कोई नहीं

Answer : मूर्खों का मौन रहना उनके लिए भूषण (अलड़्ंकार) है।
Explanation : संस्कृत सूक्ति 'विभूषणं मौनमपण्डितानाम्' का हिंदी में अर्थ– मूर्खों का मौन रहना उनके लिए भूषण (अलड़्ंकार) है। संस्कृत की यह सूक्ति नीतिशतकम् से ली गई है। State TET, CTET, TGT, PGT आदि परीक्षाओं के लिए कुछ अन्य महत्वपूर्ण संस्कृत सूक्तियां हिंदी में अर्थ सहित पढ़े–
न खलु धीमतां कश्चिद्विषयों नाम। (अभिज्ञान शाकुन्तलम् अड़्क-4)
हिंदी में अर्थ– शार्ड़्गरव कहता है– विद्वानों के लिए वस्तुत: कोई चीज अज्ञात नहीं होती है।

न तादृशा आकृतिविशेषा गुणाविरोधिनो भवन्ति। (अभिज्ञान शाकुन्तलम् अड़्क-4)
हिंदी में अर्थ– प्रियंवदा अनसूया से कहती है राजा दुष्यन्त की भांति सुन्दर आकृति वाले लोग गुण विरोधी नहीं होते।

श्रद्धेव साक्षाद्विधिनोपपन्ना (रघुवंशम 2/6)
हिंदी में अर्थ– सज्जनों के द्वारा पूजित राजा से युक्त वह नन्दिनी भी उस समय वैसी ही सुशोभित थी, जैसे सज्जनों के किये गये अनुष्ठान से युक्त श्रद्धा शोभा पाती है।
Tags : संस्कृत, संस्कृत सूक्ति
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Vibhushanam Mounam Panditanam