भीड़ को तितर-बितर करने में पुलिस द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली अश्रु-गैस क्या होती है?

(A) कार्बन डाइऑक्साइड
(B) क्लोरीन
(C) अमोनिया
(D) हाइड्रोजन सल्फाइड

Answer : क्लोरीन
Explanation : भीड़ को तितर-बितर करने में पुलिस द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली अश्रु-गैस क्लोरीन होती है। क्लोरीन (Chlorine) एक गैस है, इसका वर्गीकरण अधातु (Non-Metal) के रूप में किया जाता है। क्लोरीन का परमाणु भार 35.4527 AMU, परमाणु संख्या 17 तथा इसका सिंबल (Cl) होता है। क्लोरीन गैस में बहुत तेज बदबूदार गंध होती है। लेकिन क्लोरीन ज्वलनशील नहीं होती। परन्तु विशेष परिस्थितयों में ऑक्सीजन की तरह जलाने में सहायक होती है, कई पदार्थ ऐसे होते है जो ऑक्सीजन के वातावरण की तरह क्लोरीन गैस के वातावरण में भी जलाये जा सकते है। क्लोरीन का उपयोग ऑक्सीडाइजिंग एजेंट के रूप में किया जाता है। इसके अलावा क्लोरीन एक कीटाणुनाशक गैस है, यह बैक्टीरिया को मार सकती है, इसलिए इसका उपयोग पिने के पानी और स्विमिंग पुल के पानी का उपचार करने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही क्लोरीन का उपयोग कई उद्योगों में किया जाता है जैसे पेंट उधोग, कागज उद्योग, कीटनाशक उद्योग, प्लास्टिक उद्योग, टैक्सटाइल उद्योग, फार्मासूटिकल आदि।
Tags : भौतिक विज्ञान, भौतिक विज्ञान प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Bhid Ko Titar Bitar Karne Mein Police Dwara Istemal Kiye Jane Vali Ashru Gais Kya Hoti Hai