तुलसी गंग दुओं भये सुकविन के सरदार यह कथन किसका है?

(A) केशवदास
(B) बनारसीदास
(C) सेनापति
(D) भिखारीदास

Answer : भिखारीदास
Explanation : तुलसी गंग दुओं भये सुकविन के सरदार यह कथन भिखारीदास का है। कविवर गंग का वास्तविक नाम गंगाधर था तथा वे अकबर के दरबारी कवि थे। रामचंद्र शुक्ल ने गंग कवि का रचनाकाल 17वीं शताब्दी विक्रमी का अंत माना है। इनकी कोई पुस्तक अभी तक नहीं मिली है। पुराने संग्रह ग्रंथों में इनके बहुत से कवित्त मिलते हैं। आचार्य भिखारी दास ने इनके संबंध में लिखा है 'तुलसी गंग दुवौ भये, सुकविन के सरदार। जिनके काव्ययन में मिली, भाखा विविध प्रकार।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Tulasee Gang Duvo Bhaye Sukvin Ke Sardar Yah Kathan Kiska Hai