अर्थशास्त्र में एमए के बाद कौन सी जॉब मिलेगी?

Answer : प्राइवेट और सरकारी दोनों में बंपर जॉब
अर्थशास्त्र में एमए के बाद निजी क्षेत्र के साथ ही सरकारी नौकरियों में तमाम अवसर मौजूद है। करिअर के लिहाज से इकोनॉमिक्स (Economics) यानी अर्थशास्त्र विषय आज के दौर में अपनी उपयोगिता को स्थापित कर चुका है। वैकल्पिक करिअर के रूप में इकोनॉमिक्स में अन्य सामाजिक विज्ञानों की तुलना में अधिक अवसर उपलब्ध हैं। इकोनॉमिक्स विषय से परास्नातक करने के बाद आप अखिल भारतीय स्तर पर संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित की जाने वाली भारतीय आर्थिक सेवा (आईईएस) परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं। इसके अलावा, सांख्यिकीय अधिकारी और सांख्यिकीय अन्वेषक जैसे पदों पर निकलने वाली रिक्तियों के लिए भी आप आवेदन कर सकते हैं। इकोनॉमिक्स से पीजी करने वाले भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) में स्पेशल ऑफिसर (ग्रप 'बी') पद के लिए भी आवेदन कर सकते हैं। बतौर शिक्षक कॅरिअर बनाने के इच्छुक हों, तो पीजीटी परीक्षा उत्तीर्ण करके स्कूल व्याख्याता या फिर नेट/पीएचडी की योग्यताएं हासिल कर डिग्री कॉलेज में प्रोफेसर भी बन सकते हैं।

बता दे कि अर्थशास्त्र के अंतर्गत वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन, वितरण, विनिमय और उपभोग का अध्ययन किया जाता है। इसके अध्ययन में पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था कैसे चलती है, लोगों की खर्च क्षमता और बाजार का क्या संबंध है और जीडीपी, मुद्रास्फीति और बेरोजगारी जैसे मामलों में अर्थशास्त्रियों की क्या भूमिका होती है, जैसे विषयों के बारे में विस्तार से बताया जाता है। इसलिए निजी क्षेत्र की तमाम औद्योगिक इकाइयों, कॉमर्स, एक्चूरियल साइंस आदि में इस क्षेत्र के पेशेवरों की मांग बनी रहती है। हर साल सरकारी क्षेत्र में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया, नीति आयोग, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक फाइनेंस एंड पॉलिसी, नेशनल सैम्पल सर्वे तथा विभिन्न राज्य सरकारों के संबंधित विभागों में बड़ी संख्या में अर्थशास्त्रियों की नियुक्तियां की जाती हैं। फिक्की, एसोचैम जैसे व्यापारिक संगठन आर्थिक विश्लेषक के रूप में पेशेवरों को नौकरी देने के लिए तैयार रहते हैं।
Related Questions
Web Title : Arthashastra Me Ma Ke Baad Kaun Si Job Milegi