Environmental Engineer में करियर कैसे बनाएं?

Answer : सरकारी एवं निजी दोनों क्षेत्रों में अवसर
पर्यावरण इंजीनियरिंग विज्ञान और इंजीनियरिंग के सिद्धातों का मिश्रण है, जिनकी मदद से इस पृथ्वी पर निवास करने वाले मानव और अन्य जीव-जंतुओं को एक अच्छा वातावरण, स्वास्थ्यवर्धक हवा, पानी और जमीन आदि मुहैया कराने का प्रयास किया जाता है। फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स में 12वीं उत्तीर्ण अभ्यर्थी पर्यावरण इंजीनियरिंग में ग्रेजएशन कर सकता है। वहीं पोस्टग्रेजुएशन करने के लिए एन्वाइरन्मेंटल इंजीनियरिंग में बीटेक की डिग्री जरूर होनी चाहिए। अवसर के लिहाज से सरकारी एवं निजी दोनों क्षेत्रों में संभावनाएं हैं। आप रिसर्च के क्षेत्र में, एनजीओ, सरकारी विभाग इत्यादि में अवसर तलाश सकते हैं। साथ ही प्रदूषण नियंत्रक संस्थाओं में डिजाइनर या प्लानर के रूप में भी अपना भविष्य संवार सकते हैं। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भी यूपीएससी परीक्षा के तहत एन्वाइरन्मेंटल इंजीनियरिंग संबंधी पेशेवरों की भर्ती करता है। इसके अतिरिक्त आप विश्वविद्यालय में अध्यापन के क्षेत्र में भी अपना कॅरिअर बना सकते हैं।
Related Questions
Web Title : Career In Environmental Engineer